Apr 19, 2019

हमारी अत्यधिक इच्छाओ को नियंत्रित कैसे रखे? सत्यता को जानिए। How to control our Extra Wishes and Mind

 how to control your mind

हमारी अत्यधिक इच्छाओ को नियंत्रित कैसे रखे? सत्यता को जानिए। How to control our Extra Wishes and Mind


आमतौर पर पर पुरुषो मे तीन तरह की इच्छाए होती हैं। आखों की इच्छाए(Eyes Wish), शरीर की इच्छाए(Body Wish) और अधिक धन या संपत्ति की इच्छाए(Property Wish), और अगर हम इन इच्छाए को control करते हैं तो हमे हमारे लक्ष्य को प्राप्त करने मे काफी help मिलेगी। 

अत्यधिक इच्छाए आधुनिक जीवन मे तनाव का मूल कारण हैं। सही लक्ष्य निर्धारित करना और इच्छाओ को control करना जीवन मे कठिन कार्य हैं। महान personality के पास अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की इच्छाए होती हैं, लेकिन धन और महिलाओ जैसी physical चीजों पर नहीं. तो आइये जानते हैं मनुष्य की तीन इच्छाओ के बारे मे...Three Wishes of Human

आखों की इच्छाए(Eye Wish) : आखों से देखि जाने वाली हर चीज की इच्छा कभी न करे। उदाहरण के लिए आपके पड़ोसी ने बड़े आकार की car या tv खरीदा हो सकता हैं, हो सकता हैं की वो बोहोत पैसेवाला rich आदमी हो और आपकी आर्थिक परिस्थिति आपको वैसाही tv या car खरीदने की अनुमति न दे। इसीलिए अपने परिस्थिति के अनुसार, अपने जेब के आकार अनुसार ही आप फैसला ले और कभी भी दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा (competition) न करे।

शारीरिक इच्छाए(Body Wish) : शरीर भी इच्छाए करता हैं जो सुंदर और आकर्षक दिखाई देता हैं, कौन जनता हैं की यह हमारे शरीर के लिए अच्छा हैं या बुरा। उदाहरण के लिए आग उज्वल और लाल दिखाई देती हैं और इसे हम छूते ही यह हमारी उँगलियो को जला देती हैं, गहरा दर्द देती हैं। वैसेही शराब, cigarette और अन्य कई साधन जो शरीर के लिए अच्छे नहीं हैं। शराब, cigarette जैसी चिजे शरीर को खोकला कर देती हैं लेकिन यह जानते हुये भी लोग यह पीने की आदत नहीं छोड़ते। 

लालच और अतिरिक्त धन की इच्छा(Extra Property Wish) : आज दुनिया ऐसी हो गयी हर किसी को पैसे चाहिए और इसमे कोई शक ही नहीं, लेकिन इसी दुनिया मे वो भी लोग हैं जिनके पास उनकी जरूरते पूरी करने के लिए बोहोत सारा धन हैं, जो अपने हर Personal जरूरतों को पूरा कर सकते हैं, फिर भी वे पैसा कमाने के लिए तरसते हैं। वे उस पैसे से खुश नहीं हैं जो वे legal रूप से कमाते हैं। वे किसी अन्य तरीके से भी पैसा कमाना चाहता हैं, उदाहरण के लिए लोगो को बहुत अधिक ब्याज पर loan देने का business, लॉटरी टिकट और पैसे कमाने के गंदे तरीके आदि। ऐसे लोग हमेशा तनाव मे रहते हैं और अपना health खो देते हैं और अंत मे पूरा अन्य मार्गो से कमाया हुआ पैसा अपने treatment मे लगा देते हैं।

भगवान ने कहा हैं की, “अपनी आखों को पैसे के प्यार से मुक्त रखो और जो तुम्हारे पास हैं उससे संतुष्ट रहो, मैं तुम्हें कभी नहीं छोड़ूँगा”। एक और इच्छा हैं वो हैं “भोजन के लिए तरस”, इसमे हमेशा केवल खाने-पीने की चिंता रहती हैं। जीने के लिए खाया जा सकता हैं लेकिन खाने के लिए जिया नहीं जा सकता। ऐसे लोगो की भी क्या ज़िंदगी होती हैं जो सिर्फ खाने लिए जीते हैं?  इनके ज़िंदगी लक्ष्य नहीं होता, होता हैं सिर्फ भोगवाद- only enjoyment। 

ज़िंदगी मे आदमी की इच्छाए होनी चाहिए लेकिन एक limit के भीतर होनी चाहिए, इच्छाए ऐसी होनी चाहिए जी उससे कोई दूसरा पीड़ित न हो। जैसा की भगवान येशु ने कहा था, “लालच मनुष्य के पतन का मूल कारण हैं”। यकीन न हो तो इतिहास मे देख लीजिये आपको प्रमाण proof जाएंगे। 

Final Words – आशा करता हु दोस्तो की आपने इच्छाओ की सत्यता को इस पोस्ट के द्वारा जान लिया होगा आपका Mind यह सब पढ़के Healthy और Positive हुआ होगा ।
पोस्ट अच्छी लगी तो Share करे, Comment करे और हमारी वैबसाइट को Subscribe करे ताकि आपको नए पोस्ट का Notification मिले सबसे पहले...नमस्ते।     



EmoticonEmoticon

>